Sunday, May 15, 2011

23 april 2011


23 april 2011
23 अप्रेल 2011 दोपहर के12 बज59 मिनट एक तारीख बन गई क्योकि इस दिन मेरी आगोश में मेरा खून था मेरा बेटा ..नौ महिने इसकी मां ने बहुत तकलीफ झेली थी ..कई बार रोई थी कई बार दर्द से करहाही थी ..लेकिन शरीर का दर्द मास के लोथड़े में बदल कर जब दुनिया में आया हर किसी की आंख नम थी खुशी ने एक बार फिर से आंसूओं का सहारा लिया और सर ज़मीने हिनदुस्तान मे अरसलान ने उतरप्रदेश के नोएडा के अस्पताल में जन्म लिया।
मुझे नहीं पता तकदीर में आगे क्या लिखा है हां जो अब तक मुझे मिला है काफी संघर्ष से मिला है मेरे बेटे के मुकद्दर में क्या है . आने वाला वक्त बताए गा हां मेरी जो लिखने की धरोवर है वो हर बात ज़रूर लिखे गी चाहे वो मेरे पक्ष में हो या विरोध में ...
आप लोगों से इलतिजा करता हूं आप लोग मेरे लख्तेजीगर को एक अच्छा इंसान बनने की दुआ दे और भगवान से ये ज़रूर मांगे कि न कभी उसे और न कभी मुझे और इस देश को हमसे शर्ममिंदगी उठानी और सहनी पड़े..

No comments: