Thursday, May 24, 2012

मुम्बई में बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में मचे घमासान में नरेद्र मोदी के बैठक में ना जाने के साथ साथ मोदी के करीबी माने जाने वाले हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल भी शामिल नहीं हुए तर्क दिया जा रहा है शिमला नगर निगम चुनाव , साथ ही राष्ट्रीय नेतृत्व से माफ़ी मांगी है


 हिमाचल प्रदेश के मुख्य मंत्री धूमल मोदी के करीबी माने जाते है मोदी के राष्ट्रीय कार्यकारणी के बैठक ना जाने के के पीछे भी मोदी के शामिल ना होने का कारण ही माना जा रहा है लेकिन धूमल का तर्क था कि शिमला नगर निगम चुनाव होने के कारण बैठक में शामिल नहीं हो रहे है उनका कहना था कि नगर निगम चुनाव हमारे लिए प्रतिष्ठा का सवाल है इसलिए हाईकमान से माफ़ी मागते है


गोरतलब है धूमल मोदी के खासमखास और सबसे करीबी माने जाते है मोदी का राष्ट्रीय कार्यकारणी बैठक में ना जाना भी धूमल का ना जा भी यही कारण माना जा रहा है धूमल चाहे कोई भी तर्क दे दे

प्रेट्रोल की अभूतपूर्व कीमत के बाद बीजेपी का विरोध थमने का नाम नही ले रहा है..कल पूरी रात हंगामे के बाद आज पूर्वी दिल्ली के एमसीडी दफ्तर में बीजेपी पार्षदो ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की..प्रेटोल का विरोध जताने के लिए बीजेपी पार्षद महक सिंह ने खुद साइकिल चलाकर पूर्वी दिल्ली के एमसीडी दफ्तर पहुंचे और फिर standing committee election मे हिस्सा लिया..जहां उन्हे निर्विरोध चेयरमेन चुना गया..महक सिंह का दावा है कि सरकार की यही नीतियां जारी रही तो आम आदमी इस शहर मे रहने लायक नही रह जाएगा..और भविष्य में वो इस तरह का विरोध जताकर सरकार को घेरने की कोशिश करेंगे..



प्रेट्रोल की बढ़ती कीमत का विरोध बीजेपी पार्षद महक सिंह ने अनूठे तरीके से जताया..महक सिंह standing committee chairman के चुनाव के लिए खुद साइकिल चलाकर पूर्वी दिल्ली के एमसीडी दफ्तर पहुंचे..पूरी साइकिल यात्रा के दौरान महक सिंह के साथ उनके सपोर्टेरस भी थे..महक सिंह ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मौजूदा सरकार ने प्रेट्रोल की कीमत इतनी ज्यादा बढ़ा दी है कि उनको साइकिल से दफ्तर सफर करने का फैस ला लेना पड़ा है..जहां-जहां से महक की साइकिल यात्रा गुजरी लोगो ने उनके साइकिल यात्रा का स्वागत करते हुए कहा कि प्रेट्रोल की लगातार बढ़ती कीमत ने वाकई ही आम लोगो की कमर तोड़ दी है..खुद महक सिंह ने साइकिल यात्रा को विरोध का लोकतांत्रिक तरीका बताया...



महक सिंह की साइकिल यात्रा को पार्टी ने भले ही लोकतंत्र का सही तरीका बताया हो लेकिन विपक्ष ने इसे नौटंकी बताते हुए कहा है कि बीजेपी ने कभी भी आम लोगो के मुददे नही उठाए है...



करीब आधे घंटे की साइकिल यात्रा के सफर के बाद महक सिंह standing committee election के लिए पहुंचे जहां उनको निर्विरोध चेयरमेन चुना गया..चुनाव के बाद महक सिंह ने दावा किया है कि वो आम लोगो के साथ है और सरकार विरोधी नीतियो के खिलाफ लगातार आवाज उठाते रहेंगे...